शिवसेना बोली -सीएम हमारा होगा, भाजपा ने दिए राष्ट्रपति शासन के संकेत

मुंबई 1 नवंबर ।महाराष्ट्र में मतदान के बाद शिवसेना और बीजेपी को मिली सीटों ने प्रदेश में सरकार बनाने के लिए शर्तों को आड़े ला दिया है। हालत यह हो गई है कि दोनों पार्टियों के बीच फिफ्टी फिफ्टी के फार्मूले को लेकर खींचतान इस मुकाम पर पहुंच गई है कि राष्ट्रपति शासन तक लगाए जाने के संकेत दिए जा रहे हैं । वहीं शिवसेना ने साफ कर दिया है कि महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उनके दल का होगा।

शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने आज फिर कहा, ‘शिवसेना ने ठान लिया तो बहुमत मिल ही जाएगा। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा। शिवसेना-भाजपा में चुनाव से पहले जो हुई थी उसी पर भाजपा आगे बढ़े। महाराष्ट्र को एक स्थिर सरकार चाहिए। महाराष्ट्र के लोगों ने 50-50 फार्मूले के आधार पर सरकार बनाने का जनादेश दिया है। वह शिवसेना का मुख्यमंत्री चाहते हैं।’

राउत ने कहा कि सरकार गठन को लेकर भाजपा और शिवसेना के बीच कोई बातचीत नहीं हो रही है। भाजपा के अल्टीमेटम को लेकर राउत ने कहा कि भाजपा को कोई अल्टीमेटम नहीं, वे बड़े लोग हैं। वहीं अपने ट्विटर पर उन्होंने लिखा, ‘साहिब, मत पालिए, अहंकार को इतना, वक्त के सागर में कईं, सिकन्दर डूब गए।

भाजपा नेता सुधीर मुंगटीवार ने शुक्रवार को कहा कि यदि सात नवंबर तक सरकार नहीं बनती है तो राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया जा सकता है। उनका यह बयान ऐसे समय पर सामने आया है जब भाजपा-शिवसेना के बीच सरकार गठन को लेकर खींचतान चल रही है। 24 अक्तूबर को विधानसभा नतीजे आने के बाद छह दिन बीत चुके हैं लेकिन भाजपा-शिवसेना के बीच एकराय नहीं बन पा रही है।

You may also like...