जालौन- सम्राट मिहिर भोज की जयंती पर शोभायात्रा निकाली गई,रिपोर्ट-अतुल पांडेय

जालौन 18 अक्टूबर । सम्राट मिहिर भोज प्रतिहार भारत के महानतम सम्राटों में से एक थे। वह न्याय प्रिय और धर्म रक्षक सम्राट थे। उनके रहते देश की सीमाएं सुरक्षित थी। उनके जैसे राजाओं के कारण ही आज देश खुली हवा में सांस ले रहा है। आज उनके दिखाए मार्ग पर चलकर ही युवा अपना भविष्य संवार सकते है। यह बात सम्राट मिहिर भोज जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डाॅ. अखंड प्रताप सिंह ने कही। इस दौरान एक शोभा यात्रा भी निकाली गई।

राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह के आवहन एवं प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह रघुवंशी के निर्देश पर स्थानीय कार्यकर्ताओं द्वारा पर सम्राट मिहिर भोज प्रतिहार की जयंती का कार्यक्रम स्थानीय गेस्ट हाउस में आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि डाॅ. अखंड प्रताप सिंह ने कहा कि सम्राट मिहिर भोज प्रतिहार भारत के महानतम सम्राटों में से एक थे। वह न्याय प्रिय और धर्म रक्षक सम्राट थे। सम्राट मिहिर के रहते देश की सीमाएं सुरक्षित थी। उनके जैसे राजाओं के कारण ही आज देश खुली हवा में सांस ले रहा है। आज उनके दिखाए मार्ग पर चलकर ही युवा अपना भविष्य संवार सकते है। प्रदेश उपाध्यक्ष रघुराज प्रताप सिंह ने कहा कि सम्राट मिहिर ने 49 वर्ष शासन किया। मेहरोली नामक जगह का नाम इनके नाम पर ही रखा गया था। इनका राज्य कश्मीर से लेकर महाराष्ट्र तक फैला था तथा वह गुर्जर प्रतिहार वंश के सबसे प्रतापी राजा थे। उन्होंने बताया कि गुर्जर प्रतिहार वंश ने 300 वर्षों तक विदेशी आक्रमणकारियों को भारत में घुसने नहीं दिया। यही नहीं सम्राट मिहिर भोज ने बटेश्वर, मुरैना के अलावा मध्य प्रदेश में 200 मंदिरों का निर्माण कराया जो कि आज भी मौजूद हैं। प्रदेश सचिव केपी तोमर ने युवाओं से सामाजिक बुराईयों व नशाखोरी व सामाजिक कुरीतियों से दूर रहने का आह्वान किया। इस मौके पर रवि परिहार, बादल तोमर, दीपू जादौन, अनुपम गुर्जर, सोनू राजावत, मोनू सेंगर, संजय त्रिवेदी, मिथलेश महाराज, कृष्ण बिहारी द्विवेदी, सचिन राजावत, संदीप राठौर, पुष्पेंद्र सेंगर, राजा भदौरिया, कुलदीप सेंगर, जीतू सिकरवार, विश्वजीत चैहान, संतय गधेला आदि मौजूद रहे।

You may also like...