जालौन- दशहरा मैदान की सफाई ना होने से लोगों में खासी नाराजगी, रिपोर्ट -अतुल पांडेय

जालौन 4 अक्टूबर । श्रीबाराहीं देवी मेला मैदान में दशहरा मेला एवं रावण पुतला दहन का कार्यक्रम संपन्न होना है, लेकिन अभी तक प्रशासन द्वारा न तो मैदान परिसर की साफ सफाई कराई गई है और न ही मैदान के आसपास अवैध रूप से रखे बिल्डिंग मैटेरियल के सामान को हटवाया गया है, जिससे कमेटी के सदस्यों में रोष है। दशहरा मेला समित एवं श्रीरामलीला समिति के सदस्यों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर समस्या का समाधान कराने की मांग की। वहीं, एसडीएम ने शीघ्र ही नगर पालिका को सफाई सफाई कराने एवं अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए।
दशहरा मेला कमेटी के अध्यक्ष गौरीश द्विवेदी एवं श्रीरामलीला कमेटी के अध्यक्ष शशिकांत द्विवेदी के नेतृत्व में दोनों कमेटी के सदस्यों ने एसडीएम से ज्ञापन सौंपकर बताया कि नगर में 171 वर्ष पुरानी रामलीला के मंचन में दशहरा के पर्व पर दशहरा मेला एवं रावण के पुतले का दहन का कार्यक्रम ऐतिहासिक श्रीबाराहीं देवी मेला मैदान में किया जाता है। इसके अतिरिक्त अन्य सभी कार्यक्रम रामलीला मैदान में संपन्न होते हैं। दशहरा मेला एवं रावण के पुतले के दहन के कार्यक्रम में प्रतिवर्ष प्रशासन द्वारा मेला मैदान की साफ सफाई कराई जाती रही है। इसके अलावा आसपास के अतिक्रमण को भी प्रशासन हटावाता रहा है। लेकिन इस वर्ष ऐसा नहीं हुआ है। दशहरा को कुछ ही दिन शेष बचे हैं। दोनों कार्यक्रमों की तैयारियां भी शुरू करनी हैं। लेकिन मेला मैदान में कूड़ा कचरे के साथ कीचड़ भरा हुआ है। इसके अलावा मैदान एवं आसपास बिल्डिंग मैटेरियल के दुकानदारों ने बिल्डिंग मैटेरियल का सामान रखकर अतिक्रमण कर रखा है। ऐसे में दोनों कार्यक्रमों में व्यवधान उत्पन्न होगा। प्रशासन की लापरवाही से कमेटी के सदस्यों के साथ ही आम जनमानस में रोष व्याप्त है। ऐसी स्थिति में अतिशीघ्र श्रीबाराहीं देवी मेला मैदान की साफ सफाई कराई जाए एवं अतिक्रमण को हटावाया जाए। ताकि दोनों कार्यक्रम व्यवस्थित तरीके से संपन्न हो सकें। वहीं, एसडीएम ने मैदान की साफ सफाई व अतिक्रमण को हटवाने के लिए नगर पालिका को निर्देशित करते हुए कमेटी के सदस्यों को उनकी समस्या का अतिशीघ्र समाधान होने का आश्वासन दिया। इस मौके पर इस मौके पर चंद्रप्रकाश उर्फ थोपन यादव, उमेश दीक्षित, धर्मेंद्र चैहान, डाॅ. अंकुर शुक्ला, राजा सिंह सेंगर गधेला, डाॅ. बृजेंद्र दुबे, मंत्रील पवन चतुर्वेदी, सुरेश राव डेंगरे आदि मौजूद रहे।

You may also like...