जालौन- कन्याओं के हाथ पैर धो कर पूजन किया, रिपोर्ट -अतुल पांडेय

जालौन 3 अक्टूबर । नवरात्रि के पांचवें दिन बड़ी माता मंदिर पर कन्याओं के पैर धोकर, उनके मस्तक पर रोली-चावल से टीका लगाकर हाथ में मौली धागा बांधकर पुष्पमाला पहनाकर चुनरी ओढ़ाई गई। बाद में भोजन में हलवा-पूरी, चना, मीठा आदि खिलाया गया। शास्त्रों में नवरात्रि के अवसर पर कन्या पूजन या कन्या भोज को अत्यंत ही महत्वपूर्ण बताया गया है।

सनातन धर्म के लोगों में सदियों से ही कन्या पूजन और कन्या भोज कराने की परंपरा है। माना जाता है कि नवरात्रि का पर्व कन्या भोज के बिना अधूरा है। यही कारण है कि बड़ी माता मंदिर पर सैंकड़ों कन्याओं को भोज कराया गया। उधर, चुर्खीबाल में मां शेरावाली समिति द्वारा कन्या भोज का आयोजन किया गया। कन्या भोज के आयोजन में पीयूष पाठक, विनय परिहार, दीपक सोनी, सागर गुप्ता, आशीष परिहार, शानू पाठक, अमन प्रजापति, सोनल मिश्रा आदि ने सहयोग किया।

You may also like...