नए व्हीकल एक्ट में कड़े प्रावधान, मोबाइल पर बात करते वाहन चलाने पर 5000 का जुर्माना, रिपोर्ट-नैना

नई दिल्ली 24 जुलाई। अब तक यातायात नियमों की अनदेखी करने वालों को जुर्माने की राशि कम होने पर भय नहीं रहता था । इसके अलावा देश में हर साल करीब डेढ़ लाख लोग सड़क हादसों में जान गवा देते हैं ।।ट्रैफिक नियमों के होने के बाद भी ज्यादातर लोग इनका पालन नहीं करते हैं । नतीजा मौत और विकलांगता होती है ।

इस को मद्देनजर रखते हुए सरकार में ट्रैफिक नियमों का पालन मजबूती से कराने के लिए मोटर व्हीकल एक्ट 1988 में बदलाव कर मोटर व्हीकल 2019 को लोकसभा में पास किया है। अप्रैल 2017 में लोकसभा में पास हो चुका है , लेकिन राज्यसभा में पास होने के कारण अटक गया था । मोटर व्हीकल एक्ट में बदलाव के बाद ट्रैफिक नियमों को तोड़ने पर ज्यादा सजा होगी और जुर्माना भी ज्यादा लगेगा।

नए एक्ट में बालक से कमजोर इंजन बनाने पर गाड़ी बनाने वाली कंपनियों पर 500 करोड़ रुपए तक का जुर्माने का प्रावधान है ।।ड्राइविंग लाइसेंस बनाने या वाहन पंजीकरण कराने के लिए आधार कार्ड अनिवार्य कर दिया गया है। सरकार का मानना है कि जुर्माने की राशि कम होने की वजह से लोग यातायात नियमों का पालन नहीं करते हैं।

नए एक्ट में बिना लाइसेंस के कोई भी गाड़ी चलाने पर 5000 रु. का जुर्माना।

मोबाइल पर बात करते हुए गाड़ी चलाने पर 5000 रु. का जुर्माना

शराब पीकर गाड़ी चलाने पर 10 हजार रु. का जुर्माना लगेगा

सीमा से अधिक गति में गाड़ी चलाने पर 5000 रु. का जुर्माना

You may also like...