प्रियंका की जिद ने योगी सरकार की उड़ाई नींद ,आखिरकार सरकार को झुकना ही पड़ा

नई दिल्ली 20 जुलाई । कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के ठोस संकल्प ने प्रदेश की योगी सरकार की नींद उड़ा दी और हालत ये हो गई कि दबाव में दिखी सरकार को आखिरकार प्रियंका गांधी की जिद पूरी करनी पड़ी । सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों से आखिरकार उन्हें मिलने की इजाजत देना ही पड़ी।

राज्य सरकार ने पीड़ित परिवारों की कुछ महिलाओं से उनकी मुलाकात कराई । प्रियंका गांधी नेहरू परिवार की महिलाओं से घटना के बारे में जानकारी ली और कई बार भावुक भी नजर आई।

आपको बता दें कि बीते रोज सोनभद्र में नरसंहार में मारे गए लोगों के परिजनों से मुलाकात के लिए प्रियंका गांधी सोनभद्र जा रही थी , लेकिन उन्हें मिर्जापुर पुलिस ने शुक्रवार को रास्ते में ही रोक लिया। इसके बाद प्रियंका गांधी धरने पर बैठ गई।

पुलिस ने हिरासत में लेकर चुनार किला ले गई , लेकिन प्रियंका गांधी वहां भी धरने पर बैठी रही और पीड़ित परिवारों से मिलने की मांग करती रही।

प्रियंका गांधी के परिवारों से मुलाकात की जिद ने राज्य सरकार के नींद उड़ा दी। देर रात तक अधिकारी मिर्जापुर गेस्ट हाउस आते जाते रहे और प्रियंका गांधी को मनाने की कोशिश करते रहे , लेकिन प्रियंका ने भी साफ कर दिया कि वह नरसंहार पीड़ितों से मिले बगैर वापस नहीं जाएंगी।

चुनार किला में बने गेस्ट हाउस में प्रियंका गांधी से मिलने वाराणसी जोन के एडीजी कमिश्नर और डीआईजी भी पहुंचे, लेकिन प्रियंका ने इन सभी अधिकारियों से साफ कह दिया कि वह पीड़ितों से मिले बना वापस नहीं लौटेंगी।

आखिरकार राज्य सरकार को प्रियंका गांधी की जिद के आगे झुकना पड़ा और उन्हें सोनभद्र नरसंहार के पीड़ितों के परिजनों से मुलाकात करानी पड़ी। यहां लोग प्रियंका गांधी की इस संकल्प शक्ति को मानवीय संवेदना ओं के प्रति गहरा लगाव मानते हुए उनकी सराहना कर रहे हैं।

You may also like...