शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक, रिपोर्ट-नैना

नई दिल्ली 20 जुलाई । दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता शीला दीक्षित का आज दोपहर में निधन हो गया । पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रही थी ।।आज सुबह ही उन्हें एस्कॉर्ट्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था । बताया जाता है कि सुबह उन्हें उल्टी हुई थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है । उनके निधन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गहरा दुख व्यक्त किया है । राहुल गांधी ने कहा है कि शीला दीक्षित कांग्रेश की बेटी थी उनका कांग्रेसी से गहरा रिश्ता था।

लोकसभा चुनाव के दौरान उन्हें दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था। कुछ समय के लिए वह केरल की राज्यपाल भी रहीं।

शीला दीक्षित कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेता थीं और 1998 से 2013 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री थीं। वह लगातार तीन बार कांग्रेस सरकार में मुख्यमंत्री रहीं। दिल्ली की विधानसभा में वह नई दिल्ली विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करती थीं।

शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च, 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था। उन्होंने दिल्ली के जीसस एंड मेरी कॉन्वेंट स्कूल में शिक्षा पाई और दिल्ली विश्वविद्यालय के मिरांडा हाउस से इतिहास में मास्टर डिग्री हासिल की थी।

उनका विवाह उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले के भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी (आईएएस) विनोद दीक्षित से हुआ था। विनोद कांग्रेस के बड़े नेता और बंगाल के पूर्व राज्यपाल स्वर्गीय उमाशंकर दीक्षित के बेटे थे। शीला दीक्षित के दो संताने हैं। उनके पुत्र संदीप दीक्षित भी सांसद रह चुके हैं।

You may also like...