योगी सरकार कम मंत्रिमंडल विस्तार जल्द, बुंदेलखंड पर विशेष मेहरबानी संभव

लखनऊ 17 जुलाई । उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के जल्द ही मंत्रिमंडल विस्तार होने के संकेत हैं । भाजपा का नया प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद इस मंत्रिमंडल के विस्तार की तैयारियां पूरी हो गई हैं । कहा जा रहा है कि योगी और शाह के बीच हुई मुलाकात के बाद नामों को अंतिम रूप दे दिया गया है । इस मंत्रिमंडल विस्तार में योगी सरकार बुंदेलखंड पर विशेष मेहरबानी कर सकती है।

लोकसभा चुनाव में मंत्रियों की भूमिका को देखते हुए विस्तार में कुछ राज्य मंत्रियों की तरक्की देकर कैबिनेट मंत्री बनाया जा सकता है, तो वहीं कैबिनेट मंत्रियों के विभागों में भी बदलाव के संकेत हैं। कुछ के कद बढ़ाए जा सकते हैं, तो कुछ नए चेहरों को मौका मिलना तय है।

प्रदेश में अधिकतम 60 सदस्यीय मंत्रिमंडल बनाया जा सकता है। मार्च 2017 में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में बनी सरकार में मुख्यमंत्री सहित 47 मंत्रियों ने शपथ ली थी। इस लिहाज से मंत्रिमंडल में 13 स्थान पहले से ही खाली थे। इसके अलावा ओमप्रकाश राजभर को बर्खास्त किया जा चुका है जबकि डॉ. रीता बहुगुणा जोशी, सत्यदेव पचौरी तथा डॉ. एसपी सिंह बघेल ने सांसद निर्वाचित होने के बाद मंत्रिमंडल से त्यागपत्र दे दिया है।

भाजपा सूत्रों की मानें तो विस्तार में पश्चिम से किसी गुर्जर चेहरे को मंत्री बनाया जा सकता है। निषाद व अनुसूचित जाति के चेहरों को भी मौका दिया जा सकता है। लोकसभा चुनाव के दौरान अच्छा काम करने वाले संगठन के कुछ चेहरों को भी सरकार में शामिल कर पुरस्कार देना तय है।

बताया जाता है कि विस्तार में सभी क्षेत्रों को प्रतिनिधित्व देकर सामाजिक और क्षेत्रीय समीकरण दुरुस्त किए जाएंगे। रिक्त हुए पांच स्थानों सहित 10-12 लोगों को मंत्री बनाया जाएगा।

You may also like...