झाँसी-बजरंग बली राम जी के भक्त थे , मायावती राम का नाम जपे और मंदिर निर्माण आंदोलन में जुटे -उमा भारती,रिपोर्ट-रोहित,सत्येन्द्र

झाँसी। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने अली और बजरंगबली के बयान को लेकर मायावती पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बजरंगबली भगवान राम के भक्त थे । मायावती राम का नाम जपे और उनके साथ राम मंदिर के अभियान में शामिल हो । उमा भारती ने साफ किया कि उत्तर प्रदेश में भाजपा का सीधा मुकाबला गठबंधन से है। कांग्रेश इस मुकाबले में कहीं नहीं है । वे यहां भाजपा प्रत्याशी अनुराग शर्मा के कार्यकर्ता सम्मेलन के दौरान मीडिया से बात कर रही थी।

उन्होंने कहा कि हमारे देश में जो नेता हैं वह वोटों के लिए सारी मर्यादायें लांग जाते हैं। जिसकी सजा बंगाल की जनता जबाब देगी। अब भाजपा की सीटें और बढ़ेगी। मालूम हो कि विधानसभा में कांग्रेस की हार किस प्रकार हुई थी। जिससे राहुल को पता चल गया कि उत्तर प्रदेश में उनके लिए कोई जगह नहीं है। महागठबंधन को नुकसान जो भी पहुंचायेगा वह है कांग्रेस पहुंचेगी और भाजपा को लाभ होगा। भाजपा की टक्कर सीधे किसी है तो गठबंधन से है।

उमा भारती ने कहा कि कोर्ट में राफेल की याचिका दायिर की गई है। जिसे स्वीकार किया गया है। इसको लेकर कांग्रेस जो कह रही है , वह गलत है। कोर्ट ने कहीं नहीं लिखा कि वह चौकीदार हैं।

इसी प्रकार बांदा में विकलांग कर्मचारी ने छुट्टी न मिलने के कारण आत्महत्या की थी। जिस पर प्रियंका गांधी ने इसके लिए भाजपा को जिम्मेदार मानते हुए ट्वीट किया था। जिसका जबाब देते हुए उमा भारती ने कहा कि जो भी ड्यूटी लग रही है वह चुनाव आयोग के द्वारा लग रही है। विकलांग की मृत्यु जो हुई है वह काफी दुखद है और उसे समाज का कलंक मानती हूं।

वह रावर्ट वाड्रा की पत्नी का नाम नहीं लेती है इसलिए कहूंगी उनको यह पता होना चाहिए ड्यूटी लगाने का काम चुनाव अयोग करता है। मालूम हो कि मायावती के नोट वसूली के पीछे भी हत्यायें हुई है। 84 के जो दंगे हुए हैं। जिन्हें देखते हुए उन्हें अपने ऊपर पहले नजर डालनी चाहिए। नाम न लेते हुए कहा कि प्रियंका गांधी बहुत ही हृदयविहीन और संवेदनहीन महिला है। क्यों कि उन्होंने कभी देश के लिए जिम्मेदारी नहीं समझी।

You may also like...