अपने प्रेम को पाने के लिए एक लड़की ने उजाड़ दिए 4 परिवार, रिपोर्ट-रिंकू

लखनोए 11 मार्च। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में एक प्रेम संबंध में चार परिवार तबाह हो गए। बेहद सनसनीखेज इस कांड में जहां पत्नी ने पति की हत्या करवा दी, तो वहीं पत्नी के भाई ने उसकी हत्या कर पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

बताया जाता है कि किताबी थाना क्षेत्र के गांव हैदर नगर जलालपुर में रहने वाली शिवानी के प्रेम संबंध ने इन 4 परिवारों को बर्बाद किया। शिवानी का अपने चचेरे भाई अनुज के साथ प्रेम संबंध था । हालांकि परिवार वालों को इसकी जानकारी नहीं थी।

यही कारण था कि 28 फरवरी को शिवानी की शादी फलावदा क्षेत्र के गांव समसपुर निवासी शैलेंद्र उर्फ हैप्पी से कर दी गई। शादी के समय किसी को इस बात का अंदाजा नहीं था कि 10 दिन में ही यह परिवार तबाह हो जाएंगे।

चचेरे भाई से प्रेम संबंधों के कारण शिवानी शादी से खुश नहीं थी। शादी के 4 दिन बाद ही शिवानी ने चचेरे भाई अनुज के साथ मिलकर 4 मार्च की रात अपने पति की हत्या करवा दी। हैप्पी शिवानी से मिलने अपने ससुराल आया था।

शिवानी के भाई संजय ने इस मामले में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी । इसके बाद पुलिस ने रविवार को खुलासा करते हुए शिवानी के सचिव भाई अनुज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

अभी कहानी यहीं समाप्त नहीं हुई थी । सूत्रों के अनुसार शिवानी व अनुज के प्रेम संबंधों और उनके चलते हैप्पी की हत्या से पूरा परिवार बेहद गम और गुस्से में था। रविवार शाम शिवानी के तेहेरे भाई सुमित ने शिवानी की गोली मारकर हत्या कर दी और खुद थाने पहुंचकर पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

और साथ में सुमित का कहना था कि चचेरे भाई अनुज व शिवानी ने प्रेम संबंधों की आड़ में जिस तरह से बेकसूर हैप्पी की हत्या की, उसके पूरे परिवार की प्रतिष्ठा को ठेस लगी और काफी बदनामी हुई।

सुमित को शिवानी की हत्या का जरा भी अफसोस नहीं है । पुलिस ने बताया कि हैप्पी की शादी 28 फरवरी को तिवारी क्षेत्र के गांव हैदर नगर जलालपुर निवासी शिवानी से हुई थी । 4 मार्च की देर रात हैप्पी चचेरे भाई मनीष के साथ शिवानी से मिलने हैदरनगर पहुंचा था । वहां से लौटते समय रात करीब 2:00 बजे गांव की रिक्शा स्टैंड पर हैप्पी की गोली मारकर हत्या कर दी गई । मनीष इसमें गंभीर रूप से घायल हो गया था।

पुलिस की जांच में सामने आया कि शिवानी ने पति के घर पहुंचने की जानकारी व्हाट्सएप के जरिए प्रेमी व चचेरे भाई अनुज को दी थी ।इसके बाद उसने हत्या की वारदात को अंजाम दिया

हैप्पी की हत्या के मामले में पुलिस शिवानी को फरार बताती रही जबकि वह अपने घर में ही मौजूद थी पुलिस ने शिवानी के चचेरे भाई अनुज को गिरफ्तार करने के बाद हत्या का खुलासा कर दिया एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने पत्रकारों को इस हत्याकांड के खुलासे की जानकारी दी।

इस पूरे प्रकरण में शिवानी ने अपने ही सुहाग को उजाड़ने के साथ कई परिवारों को तबाह कर दिया । वह अपनी शादी से खुश नहीं थी इसी के चलते उसने अनुज के साथ मिलकर पति से छुटकारा पाने के लिए इस साजिश को अंजाम दिया।

बताया जाता है कि हैप्पी परिवार का इकलौता बेटा था । पिता सुभाष की भी मौत हो चुकी है । इकलौते बेटे की हत्या के बाद हैप्पी की मां को हार्ड अटैक के बाद मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बताया जाता है कि शिवानी की इस हरकत के बाद परिजनों का खून खोल रहा था । तहेरे भाई सुमित से यह सब बर्दाश्त नहीं हुआ, तो उसने शिवानी की हत्या करने की ठान ली । सुमित ने शिवानी को बाइक पर बैठाया और जंगल ले गया । वहां ले जाकर उसने शिवानी के सिर में गोली मार दी और बाद में पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया।

You may also like...