चुनाव प्रचार में सैनिकों की फोटो को लेकर चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को हिदायत दी, रिपोर्ट-नैना

नई दिल्ली 9 मार्च । चुनाव प्रचार के लिए सेना के जवानों की फोटो का इस्तेमाल ना किए जाने को लेकर चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को नसीहत दी है।

चुनाव आयोग की ओर से जारी बयान में यह कहा गया है कि रक्षा मंत्रालय की ओर से यह संज्ञान में लाया गया था कि कुछ राजनीतिक दल सुरक्षा बल के जवानों की फोटो का प्रयोग चुनाव प्रचार और राजनीतिक प्रोपेगेंडा के लिए कर रहे हैं।

आयोग की यह एडवाइजरी राजनीतिक दलों को सतर्क करने के लिए जारी की गई है । एडवाइजरी में कहा गया कि सुरक्षाबल देश की सीमाओं , क्षेत्र और पूरे राजनीतिक तंत्र के पहरी हैं। लोकतंत्र में उनकी भूमिका निष्पक्ष और गैर राजनीतिक है । इसलिए जरूरी है कि चुनाव प्रचार में सुरक्षाबलों का जिक्र करते हुए राजनीतिक दल और राजनेता सावधानी बरतें।

आपको बताते हैं कि साउथ दिल्ली के किशनगढ़ बस स्टैंड के करीब 1 बॉल पर राजनीति पोस्टर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ पोस्टर मैं विंग कमांडर अभिनंदन का कैरीकेचर बनाया हुआ है । इस पर साउथ एमसीडी की पूर्व मेयर सरिता गुप्ता के साथ वसंत कुंज के निगम पार्षद का भी फोटो लगा हुआ है।

हालांकि सरिता ने इस बात से साफ इंकार कर दिया कि पोस्टर कहां लगे हैं, उन्हें खुद ही इसकी जानकारी नहीं है।

इस पोस्टर पर चुनाव विश्लेषक योगेंद्र यादव ने ट्वीट करते हुए आयोग को टैग किया और पूछा कि इस पोस्टर विज्ञापन पर क्या कार्यवाही होगी । इस को लेकर चुनाव आयोग ने प्रक्रिया देते हुए कहा कि आचार संहिता लागू होने के बाद ऐसे विज्ञापनों पर गौर किया जाएगा।

You may also like...