योगी की बैठक मोदी की रैली तैयारियों तक केंद्रित होकर रह गई!

झाँसी। आज भोजला मंडी में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 फरवरी को होने वाली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली स्थल देखा। उन्होंने व्यवस्थाओं को देखने के साथ ही झांसी एवम चित्रकूट मंडल की समीक्षा बैठक भी की। हालांकि यह बैठक यस और नो के बीच झूलती हुई मोदी की रैली पर ही केंद्रित रही।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने निर्धारित समय से लगभग डेढ़ घंटे बाद 2 बजकर 18 मिनट पर झांसी की भोजला मंडी पहुंचे। भोजला मंडी में पहुंचने के बाद उन्होंने जनप्रतिनिधियों और झांसी-चित्रकूट मंडल के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने बताया कि 15 फरवरी को झांसी भोजला मंडी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का कार्यक्रम होगा। जिसमें वह एक विशाल सभा को सम्बोधित करेंगे। इसके साथ ही कई योजनाओं का शिलान्यस और लोकपर्ण करेंगे। इतना ही नहीं सभा में आने वाले लोगों की भीड़ को इतना अधिक करना है कि यह बुन्देलखंड का इतिहास बन जाये। इसके लिए अभी से तैयारियां शुरु कर दी जायें।

मंच से जनप्रतिनिधि भी देंगे भाषण

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यक्रम को निर्देशित करते हुए कहा कि 15 फरवरी को होने वाली सभा में सभी को मौका दिया जायेगा। सांसद या विधायक सभी 5-5 मिनट अवश्य अपने भाषण रखेंगे। क्योंकि यह रैली आने वाले लोकसभा चुनाव का भविष्य भी तय करेगी।

पेयजल समस्या को दूर करने के लिए उठाया कदम

मुख्यमंत्री ने बैठक में बताया कि उनकी प्रदेश और केन्द्र की मोदी सरकार ने बुन्देलखंड के लिए कई लाभकारी योजनायें चलाईं हैं। यहां सबसे बड़ी पेयजल और सिचाई समस्या है। जिसके लिए केन्द्र और प्रदेश सरकार ने हर सम्भव प्रयास किया। बजट में भी बड़ी धनराशि दी है। जिससे इन समस्याओं को दूर किया जाये। पाइप पेय जल योजना के अंतर्गत पेयजल समस्या को दूर किया जायेगा। पाईप पेयजल योजना से बुन्देलखंड के गांव-गांव तक शुद्ध पानी पहुंचेगा। लोगों का पलायन रुकेगा। इसके साथ ही केन-बेतवा लिंक परियोजनाओ आई बाधा को दूर करने के लिए प्रयास किया जा रहा है, जिससे सिचाई समस्या न हो।

You may also like...