गृह मंत्रालय ने पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार के खिलाफ जांच के आदेश दिए, रिपोर्ट- नैना

नई दिल्ली 4 फरवरी । कोलकाता में चल रहे सियासी ड्रामा के बीच गृह मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव को पुलिस कमिश्नर राजीव के खिलाफ जांच के आदेश दिए हैं। गृह मंत्रालय ने राजीव कुमार पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने को कहा है। राजीव कुमार के कुछ पुलिस अधिकारियों के साथ ममता बनर्जी के धरने पर बैठने को नियमों का उल्लंघन बताया गया है

धरने पर बैठे ममता बनर्जी ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले को अपनी नैतिक जीत बताया है । उन्होंने कहा कि वह अकेली नहीं है इस लड़ाई में पूरा देश उनके साथ है।

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने ममता बनर्जी पर हमला बोला है । उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी नियमों का पालन नहीं कर रही है बह सीबीआई की जांच में रुकावट पैदा कर रही हैं। सांसद बाबुल सुप्रियो ने भी ममता बनर्जी के खिलाफ मोर्चा खोला है।

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई ने आदेश दिया कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होना चाहिए। जांच में सहयोग करें। हालांकि इस दौरान सीबीआई राजीव कुमार को गिरफ्तार नहीं कर सकती है ।

पश्चिम बंगाल सरकार की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सीबीआई राजीव कुमार को गिरफ्तार करना चाहती है, जिस पर सीजेआई ने कहा कि आप बहुत ज्यादा कल्पना करते हैं। चीफ जस्टिस ने आदेश दिया है कि पुलिस कमिश्नर को शिलांग में सीबीआई के सामने पेश होना चाहिए।

कुमारचीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने आदेश दिया है कि कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार को सीबीआई के सामने पेश होना चाहिए और उन्हें जांच में सहयोग करना चाहिए. हालांकि, इस दौरान सीबीआई राजीव कुमार को गिरफ्तार नहीं कर सकती है. पश्चिम बंगाल की सरकार की ओर से अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि सीबीआई राजीव कुमार को गिरफ्तार करना चाहती है, जिसपर सीजेआई ने कहा कि आप बहुत ज्यादा कल्पना करते हैं.चीफ जस्टिस ने आदेश दिया है कि पुलिस कमिश्नर को शिलॉन्ग में सीबीआई के सामने पेश होना होगा.

You may also like...