झाँसी- बजे ढोल, नगाड़े, समर्थक बोले अब तो बुंदेलखंड राज्य बना दो

झाँसी। बुन्देलखंड राज्य की मांग को लेकर झांसी में समर्थकों ने अनोखा कदम उठाया है। राज्य समर्थकों ने केन्द्र सरकार को कुम्भकर्ण बताकर ढोल नगाड़े बजाए और कहा कि अब न सहेंगे, अब तो राज्य लेकर रहेंगे। इसके साथ ही उन्होंने चेतावनी दी कि आने वाली 28 जनवरी को वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह और केन्द्रीय मंत्री उमा भारती का पुतला फूंककर प्रदर्शन करंेगे।

बुन्देलखंड राज्य की मांग एक लम्बे समय से चली आ रही है। धीरे-धीरे यह मांग जोर पकड़ती जा रही है। राज्य समर्थकों ने बुन्देलखंड निर्माण मोर्चा के नेतृत्व में सीजेएम कोर्ट के नजदीक केन्द्र सरकार को कुम्भकर्ण बताकर प्रदर्शन किया। राज्य समर्थकों ने ढोल, नगाड़े, शंख, मजीरा, झांझ और रमतूला बजाकर कुम्भकर्णीय रुपी केन्द्र सरकार को नींद से जागने का प्रयास किया। राज्य समर्थकों का कहना है कि पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान चुनावी मंच से केन्द्रीय मंत्री उमा भारती सरकार बनने के तीन साल के भीतर राज्य बनाने का जनता से वादा किया था। इस वादे को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री राज्यनाथ ने भी झांसी के चुनावी मंच से पूरा करने का वादा किया था।

सरकार बनने के पौने पांच साल से अधिक हो चुका है लेकिन अभी तक राज्य नहीं बनाया गया। इससे एक बात स्पष्ट हो गई है कि उमा भारती का केन्द्र सरकार में कोई वजूद नहीं रह गया है। जब भी उमा भारती ने राज्य को लेकर चर्चा की जाती है तो वह मध्य प्रदेश के इलाके साथ में न होने की बात कहकर अपना बचाव कर लेती है। जबकि मध्य प्रदेश की जनता भी राज्य निर्माण की मांग कर रही है। वह केवल जनता को गुमराह करने और राज्य समर्थकों को मनोवल गिराने के लिए ऐसा कर रहती है। लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। आगामी 28 जनवरी को झांसी में एक बार फिर केन्द्रीय मंत्री उमा भारती, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री राजनाथ का पुतला जलाकर प्रदर्शन किया जायेगा। देखते है कि पुलिस उन्हें यह प्रदर्शन करने में कैसे रोकती है।

इस मौके पर भानू सहाय के अलावा, रघुराज शर्मा, अशोक सक्सेना, संजय शर्मा, गिरजा शंकर राय, गोलू ठाकुर, हमीदा अंजुम समेत अन्य समर्थक मौजूद रहे।

You may also like...