शिवपाल ने सवर्ण आरक्षण बिल का समर्थन किया, लेकिन भाजपा पर भरोसा नहीं, बोले- जुमला बनकर न रह जाए

लखनऊ 9 जनवरी . प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने सवर्ण आरक्षण बिल का समर्थन तो किया है, लेकिन कहा कि उन्हें भाजपा पर भरोसा नहीं। यादव ने कहा कि भाजपा ने खनन मामलों की जांच में बहुत देर कर दी। मैं 2004 से 2007 तक खनन मंत्री रहा हूं, लेकिन मेरे ऊपर कोई आरोप नहीं लगा।

उन्होंने कहा खनन में जो गड़बड़ियां हुई है, उससे लोगों को महंगाई का सामना करना पड़ा । खनन की गड़बड़ी के चलते मिट्टी बालू गिट्टी सभी महंगे हो गए।

यादव ने कहा कि सरकार बनने को 2 साल हो गए हैं अब जांच लोकसभा चुनाव की वजह से कराई जा रही है उन्होंने कहा कि 2007 से 2012 तक बसपा सरकार मैं खनन की जांच होनी चाहिए थी।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान शिवपाल ने कहा कि उनके सभी सेकुलर पार्टियों से गठबंधन के विकल्प खुले हुए हैं उन्होंने 10 फ़ीसदी आरक्षण का समर्थन किया लेकिन आशंका जताई कि है भी कहीं जुमला बनकर न रह जाए।

उन्होंने कहा कि गरीब सवर्णों को आरक्षण देने की मांग हमने अपने रैली में भी उठाई थी। हम इसके पक्ष में है, लेकिन हमें भाजपा पर भरोसा नहीं । भाजपा ने चुनाव में जो वादे किए उसमें एक भी पूरा नहीं किया गया

You may also like...