झाँसी- और जब पुलिस वाले चिल्लाए, छोड़ दीजिए पुतला फूंकने नहीं देंगे, रिपोर्ट-देवेन्द्र, रोहित

झांसी बुंदेली माटी की हक के लिए संघर्ष कर रहे बुंदेलखंड राज्य निर्माण मोर्चा के अध्यक्ष भानु सहाय और सहयोगी संगठनों की कल सड़क पर पुतला फूंकने को लेकर जो जद्दोजहद देखने को मिली उसने पुलिस के भी पसीने छुड़ा दिए।

समर्थक मोदी, उमा भारती और राजनाथ सिंह के पुतले फूंक ना चाहते थे, तो पुलिस उन्हें ऐसा करने से रोकना चाहती थी। पुलिस और समर्थकों के बीच छीना झपटी आपाधापी और भागम भाग देखने लायक थी।

कचहरी चौराहे पर पुतला फूंकने के दौरान नाराज समर्थकों का जोश पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं था। समर्थकों के नारे वादा निभाओ बुंदेलखंड राज बनाओ और पुतला फूंकने की रणनीति पर अमल करने का प्रयास पुलिस पर भारी पड़ रहा था ।

फोर्स भी खूब थी और समर्थक भी पूरे जोश में थे। दोनों ही अपने मंसूबे में सफल होना चाहते थे। रघुराज शर्मा, गिरजा शंकर राय, भानु सहाय सभी लोग पुतले लेकर उन्हें फूंकने पर आमादा थे, पुलिस किसी भी कीमत पर पुतला फूंकना रोकना चाहती थी ।

पुलिस और समर्थकों के बीच पुतला कब्जा किये जाने की होड़ नजर आई । तस्वीरों में आप देख सकते हैं कि किस प्रकार पुलिस और राज्य समर्थकों के बीच पुतला छीने जाने को लेकर जद्दोजहद हो रही है। इस दौरान बुंदेलखंड राज निर्माण के नारे लग रहे थे, तो वहीं पुलिस वाले चिल्ला रहे थे छोड़ दीजिए पुतला फूंकने नहीं देंगे । हालांकि कशमकश को छीना झपटी में भानु सहाय अपने हाथ को चुटहिल भी कर बैठे।

बरहाल बुंदेलखंड राज के लिए समर्थकों का पुतला फूंकने जाने का यह प्रयास उनके जोश को दर्शाने में सफल रहा । भानु सहाय का कहना है कि जिस प्रकार से बुंदेलखंड राज्य निर्माण को लेकर केंद्र औऱ राज्य सरकार वादाखिलाफी कर रही है, वह आम चुनाव में उसे भारी पड़ेगा। उन्होंने बोर्ड के गठन को नाकाफी बताया।

You may also like...