मध्यप्रदेश में कांग्रेस को बहुमत से दो हाथ करना बाकी, रिपोर्ट- संदीप

भोपाल 12 दिसंबर मध्य प्रदेश के चुनाव में सभी 230 विधानसभा सीटों के लिए परिणाम घोषित हो गए हैं कांग्रेश राज्य में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी है। उसे 114 सीटें मिली है । कांग्रेस बहुमत से 2 सीट दूर है। बीजेपी को 109 सीटें मिली हैं चार अन्य के साथ बहुजन समाज पार्टी को दो समाजवादी पार्टी को एक सीट मिली है।

चुनाव आयोग से तस्वीर साफ होने के बाद कांग्रेस और भाजपा की ओर से सरकार बनाने की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। आज बुधवार को दोनों ही दलों की बैठक हो रही हैं। इस में बहुमत जुटाने के लिए आंकड़े को पूरा किया जाएगा माना जा रहा है कि सारा दारोमदार निर्दलीय विधायकों पर रहेगा।

वैसे आपको बता दें समाजवादी पार्टी पहली ही यह कह चुकी है कि जरूरत होगी तो बह कांग्रेस का समर्थन करेगी। ऐसे में कांग्रेस को यदि सपा का समर्थन मिलता है तो उसके पास केवल 1 वोट जुटाने की जरूरत रह जाएगी।

बहुजन समाज पार्टी ने पहले ही कह दिया है कि वह किसी पार्टी का समर्थन नहीं करेगी। ऐसी स्थिति में कांग्रेस के पास सिर्फ एक निर्दलीय को साथ लेने की जरूरत रह जाएगी ।

वहीं भारतीय जनता पार्टी के सामने मुश्किल यह है कि उसे बहुमत के लिए 7 सीटों का इंतजाम करना है। चार निर्दलीय के साथ अन्य को जुटाना चुनौती भरा काम है।

राज्य में सरकार गठन के साथ कांग्रेसमें मुख्यमंत्री पद के लिए भी रस्साकशी चल रही है अधिकांश विधायक कमलनाथ के पक्ष में बताए जा रहे हैं । उधर, ज्योतिरादित्य सिंधिया भी सीएम पद की दौड़ में बने हुए हैं ।

आज शाम को मुख्यमंत्री पद के लिए प्रत्याशी का चयन कर लिया जाएगा वैसे राहुल गांधी की पसंद के रूप में ज्योतिरादित्य सिंधिया बताए जा रहे हैं लेकिन राज्य में समीकरण फिट बैठाने के लिहाज से पार्टी कमलनाथ पर ही दांव लगाएगी।

You may also like...